Tag Archives: G.M.P.

होम्योपैथिक औषधि निर्माण – विकसित सोच की ओर

आज से २० वर्ष पूर्व होम्योपैथिक दवाओं का निर्माण कार्य आसान और कम खर्चीला था और इसी दौर मे कलकत्ता की अधिकाशं कम्पनियों  का सिक्का होम्योपैथिक दवा इन्डस्ट्री मे चलता रहा । सन्‌ १९९० के आस पास बदलाव की हवा चली , बाहरी कम्पनियों का आना एक के बाद एक शुरु हुआ , इसी दौर मे फ़्रान्स की बोरोन ( Boiron ) ने अपने देश से अनुबंध किया। हाल के दिनों मे  जर्मनी की विल्मर शवाबे ( इन्डिया ), बैकसन , रालसन , आर.एस. भारगव और बायो फ़ोर्स  ने भी दवा इन्डस्ट्री मे अपनी जगह बनायी । आज कलकत्ता की अधिकाशं होम्योपैथिक कम्पनियाँ उत्तर भारत मे तो कम से कम नजर नही आती । एक समय होम्योपैथिक को मजबूत और सस्ता आधार देने वाली कम्पनियों का सफ़ाया कम से कम कलकत्ता के अलावा शेष भारत मे तो हो ही चुका है । C.C.R.H. ( सेन्ट्र्ल काउन्सिल आफ़ होम्योपैथी ) और केन्द्र सरकार के नये नियमों के चलते अब होम्योपैथिक दवाओं पर मूल्य नियंत्रण आसान  नही रहा ।

होम्योपैथिक दवा इन्डस्ट्री मे नये बदलाव और गुणवत्ता  नियंत्रण क्या हैं इसको समझने के लिये यहाँ , यहाँ और यहाँ देखें । बोरोन इन्डिया की यूनिट पर एक नजर के लिये इस वीडियो को अवशय देखें :

Vodpod videos no longer available.

more about "SBL Homeopathy", posted with vodpod

Advertisements

होम्योपैथिक औषधियों मे expiry date का प्रश्न–कितना जायज ?

 
चित्र को साफ़ और बडे आकार मे देखने के लिये ईमेज पर किल्क करें

यह साल जाते-२ होम्योपैथिक दवाओं पर तीसरी मार दे गया । साल के शुरु मे शुगर आफ़ मिल्क या दुग्ध शर्करा के रेट मे अप्रत्याशित वृद्दि , उसके बाद माननीय  उच्चतम न्यायालय ने पौंडं पैंकिंग ( ४५० मि.ली. ) की बिक्री पर लगायी रोक के कारण ३० मि.ली. की पैकिंग का चलन और अब वर्ष के अंत मे केन्द्र का  G.M.P. ( Good Manufacturing Practices ) के   अन्तर्गत होम्योपैथिक दवाओं पर expiry date  अंकित करना आवशयक हो गया है । देखें यहाँ , यहाँ और यहाँ । मदर टिन्चर और पोटेन्सी पर ५ साल और Ointments और पेटेन्ट पर ३ साल की अवधि तय की गई है । होम्योपैथिक दवाओं  की जानकारी रखता हुआ हर चिकित्सक  यह समझ सकता है यह कितना बेतुका नियम है । फ़िलहाल जो होम्योपैथ दवाओं का काफ़ी लम्बे समय तक स्टाक रखने की सोच रहे हों अब सावधान हो जायें , आपकी जेब पर डाका पडने वाला है 🙂

यह भी देखें : ( संबधित पोस्ट )