Arsenic Trioxide ( Arsenic album ) as a war remedy against Covid 19 – a study report by Dr Manish Agarwala

images3803506411958195270.jpeg

कलकत्ता में रहने वाले  होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. मनीष अग्रवाल कोविड 19 महामारी कॆ प्रकोप के बाद से  Genus Epidemics का अध्ययन कर रहे हैं। अपनॆ  4-भाग कॆ  अध्ययन मॆ वह पश्चिमी चिकित्सा , जैव रसायन विज्ञान, विकृति विज्ञान, शरीर क्रिया विज्ञान, विष विज्ञान और  होम्योपैथी के संदर्भ में मुद्दों की पड़ताल करते हैं। उन्होंने कोविद 19 के लक्षणों , होम्योपैथिक औषध विज्ञान और Arsenic album के विषाक्त लक्षणों के बीच एक मजबूत संबंध पाया। उनकी प्रस्तुति इस अध्ययन का विस्तृत विवरण प्रस्तुत करती है ।

लेकिन सबसे पहलॆ  करते हैं होम्योपैथी से जुडी शब्द “Genus epidemics ” की :

माहामारियों मे दवा का चुनाव अन्य चुनाव की अपेक्षा आसान हो जाता है क्योंकि रोग के लक्षण लगभग एक से ही रह्ते हैं । और दवा का चुनाव  मुख्यत: एक या दो दवाओं पर आ टिकता  है ।  ऐसी अवस्था मे चयनित दवा को “genus epidemicus” कहते हैं ।

The indicated remedy in pandemics is usually very consistent and called the “genus epidemicus“. This is narrowed down to a shortlist of three or less.

कोरोनावाइरस कॉविड -19 जीनस एपिडेमिकस

मनीष अपनॆ पहले अध्ययन , ” CORONAVIRUS COVID-19 GENUS EPIDEMICUS ANALYSIS ” में लिखतॆ हैं 

“ यह सच है कि आयुष मंत्रालय (भारत) के सीसीआरएच द्वारा आर्सेनिकम एल्बम का सुझाव दिया गया था, हालांकि उनके सुझाव अस्पष्ट और तथ्यहीन थॆ । CCRH एक तरह से ILI-influenza  प्रकार की आम बीमारी मॆ प्रयोग करनॆ की हिमायत कर रहा था । बाद में, मंत्रालय ने आंशिक रूप से सलाह को वापस ले लिया । लेकिन तथ्य और विश्लेषण के अनुसार से  – आर्सेनिकम एल्बम जीनस एपिडेमिकस के साथ-साथ कोविड -19 महामारी के लिए ही उपचारात्मक उपाय साबित हुई है ।

आरम्भ में अलग २ होम्योपैथिक शिक्षाविद्ध और चिकित्सकॊ का भी दृष्टिकोण अलग २ रहा । कुछ bryonia , gelsemium , belladona या camphor कॆ पक्ष मे थे । लेकिन होम्योपैथिक दृष्टिकोण से हर  दवा का चुनाव totality के आधार पर ओता है जिसे कोविड 19 और इन दवाओं मे मेल बिल्कुल नही दिखा । totality अगर देखी गई तो सिर्फ़ आर्सेनेक के साथ ।

विस्तार से देखॆ

Read the paper no 1 at researchgate : CORONAVIRUS COVID-19 GENUS EPIDEMICUS ANALYSIS

OR

Download  : LINK 1

आर्सेनिक ट्राईऑक्साइड विषाक्तता , कोविद -19 और एचआईवी-एड्स के बीच लक्षणों की समानता

दूसरे अध्ययन मे मनीष लिखतॆ है :

आर्सेनिक ट्राईऑक्साइड विषाक्तता , कोविड -19 और एचआईवी-एड्स के बीच लक्षणों की एक अजीब समानता है। सामान्य लक्षणों के अलावा जो तीनों के बीच दुर्लभ लक्षणों के उदाहरण आम हैं  – : इम्यूनो-सप्रेशन / स्वाद या गंध की अनूभूति न होना / एक्यूट नेक्रोटिक एनसेफैलोपैथी या डेमिनाइलेटिंग एन्सेफैलोपैथी / रबडोमायोलिसिस का दुर्लभ लक्षण। यह एक संयोग नहीं हो सकता है!

There  is  a  strange  similarity  of  symptoms  between  Arsenic  Trioxide poisoning AND Covid-19  AND  HIV-AIDS.  Apart from usual  symptoms  that are common between all three – example of rare symptoms common between all three  are:  Immuno-suppression  /  loss  of  taste  or  smell  /  Acute  Necrotic Encephalopathy  or  Demyelinating  Encephalopathy  /  the  rare  symptom  of Rhabdomyolysis. This cannot be a coincidence

2) कोविड -19 से संबंधित सभी घटनाएँ जो आज तक वैज्ञानिकों को चकित करती हैं – उन्हें केवल आर्सेनिक / आर्सेनिक ट्रायोक्साइड विषाक्तता के परिप्रेक्ष्य से समझाया जा सकता है।

 All the phenomenon related to covid-19 that has baffled scientists till date – can  ONLY  be  explained  from  the  perspective  of  arsenic  /  arsenic  trioxide toxicity .

Genus Epidemicus (सामुदायिक प्रोफिलैक्सिस)

अपनॆ अधययन को आगे बढातॆ हुयॆ डा. मनीष अग्रवाल कोविड -19 और एचआईवी के लिए निवारक और उपचारात्मक उपाय के रूप मॆ Genus Epidemicus (सामुदायिक प्रोफिलैक्सिस) कॆ लिये  होम्योपैथिक औषधि आर्सेनिक ट्राईऑक्साइड का प्रस्ताव करते हैं  (आर्सेनिकम एल्बम 200 C पोटेन्सी जिसे के-ट्रॉनिक पोटेंटाइज़र पर बनाया गया हो ( SBL निर्मित ) इस औषधि की  200 C पोटेन्सी केवल एक खुराक दॆ जिसका कार्य  5 महीने तक रहता है , और इस  अवधि मे इसको रिपीट करनॆ की भूल न करे।  मनीष के अनुसार क्लासिकल  होम्योपैथिक प्रोफिलैक्सिस ही इसका एकमात्र  समाधान है जो इस संक्रमण को तोड़ देगा और मानव-से-मानव संचरण को रोक देगा । यह बहुत ही  सस्ता, गैर विषैला और बहुत प्रभावी है और पूरी आबादी को कवर करने के लिए सरकारी हेल्थकेयर सेटअप के माध्यम से तैनात किया जा सकता है।

Genus  Epidemicus  (community  prophylaxis):  I  propose  Arsenic  Trioxide  in potentized homeopathic form (Arsenicum Album 200c – Potentized on K-tronic potentizer) as the preventive & curative remedy for covid-19 & HIV.  Only one dose of 200c & allowing it to work undisturbed for 5 months. More details in my research paper. 4) My solution of Classical Homeopathic prophylaxis is the ONLY solution that will  break  the  chain,  stop  human-to-human  transmission,  prevent  covid-19 infection and prevent the acute & chronic manifestations of covid-19. It is very cheap, non-toxic  &  very  effective  and  can  immediately be deployed through the Government Healthcare setup to cover the  entire population. 

 Read the paper no 2 at researchgate :  ARSENICUM ALBUM COVERS  THE NEW EMERGING COMPLICATIONS OF COVID-19

OR

Download  Link 2

तीसरे शोधपत्र में मनीष अपनॆ अध्ययन की कडी को आगॆ बढाते हुये आर्सेनिक विषाकता के लक्षण , कोविड 19  और एचआईवी कॆ बीच संबध दिखाते है ।

मनीष लिखते हैं

आर्सेनिक ट्राईऑक्साइड विषाक्तता-एचआईवी / एड्स-कोविद 19 के बीच समानता का अगर अध्ययन करना हो तो Zandvoort’s Complete Repertory मॆ रिपर्टरिज करॆ या फ़िर केन्ट कॆ व्यखखान और फ़ैरिन्टन के मैटेरिया मॆडिका को देखॆ ।

The similia of acute HIV symptoms (and AIDS) with Ars. Alb. can be verified by careful repertorization using Zandvoort’s Complete Repertory OR simply refer to Kent’s lectures on Arsenicum Album & Farrington’s Materia Medica. The similarity between Arsenic Trioxide poisoning-HIV/AIDS-Covid19 will be crystal clear!

हाल ही मॆ ब्रिटेन में चिकित्सकों कॆ समूह नॆ  एक क्लिनिकल ट्रायल शुरू किया है जिससे  उन्हॊने पाया  कि कोविड-19 से गंभीर रूप से बीमार लोगों में रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं (इम्यून सेल या टी-सेल) की संख्या कम हो जाती है. किसी भी बीमारी को शरीर से बाहर निकाल फेंकने के लिए टी-सेल ही ज़िम्मेदार होते हैं

अपनॆ इस शोधपत्र मे मनीष इसी imuno suppression की बात उठातॆ हैं ।

Arsenic and the immune response
https://academic.oup.com/icb/article/46/6/1040/713967

AND…
COVID-19 is associated with significant drops in CD4 count
http://i-base.info/htb/37431
https://academic.oup.com/cid/advance-article/doi/10.1093/cid/ciaa248/5803306

Read the paper no 3 at researchgate

THE SINISTER SIMILARITY BETWEEN ARSENIC POISONING SYMPTOMS AND  THE SYMPTOMS OF COVID-19 AND HIV INFECTION

OR

Download LINK 3 

अपनॆ आखिरी शोधपत्र में मनीष विभिन्न स्त्रोतों से प्राप्त जानकारी के अनुसार आर्सेनेक और विषाणु संक्र्मण मे संबध दिखातॆ हैं ।

THE SINISTER CONNECTION BETWEEN ARSENIC AND
VIRAL INFECTIONS
1. Arsenic exposure may decrease immunity to flu:
.https://ehp.niehs.nih.gov/doi/10.1289/ehp.0900911
https://ehp.niehs.nih.gov/doi/10.1289/ehp.trp081309
2. In utero Arsenic and H1N1 influenza- the role of CD8+ T cells in
immunopathology:
https://grantome.com/grant/NIH/F32-ES019070-02

3. Arsenic exposure is associated with pediatric pneumonia in rural
Bangladesh: a case control study. “finding suggests that low to moderate
Arsenic exposure may be a risk factor for pneumonia in children under 5
years of age”.
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/26497043
https://www.healio.com/pediatrics/respiratoryinfections/news/online/%7B0ac15722-4c8c-4469-946ccf885665a17c%7D/pediatric-pneumonia-most-commonly-caused-byviral-infections

4. Chronic exposure to arsenite enhances influenza virus infection in
cultured cells
https://onlinelibrary.wiley.com/doi/abs/10.1002/jat.3918

5. Quantitative links between Arsenic exposure and influenza A (H1N1)
infection-associated lung function exacerbations risk.
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/21284682

6. Latent membrane protein-1 of Epstein – Barr virus increases sensitivity to
Arsenic trioxide-induced apoptosis in nasopharyngeal carcinoma cell.
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/16404345

7. Swine Flu: Influenza A (H1N1) Susceptibility Linked To Common Levels Of
Arsenic Exposure:
https://www.sciencedaily.com/releases/2009/05/090520151436.htm

8. Low-dose Arsenic compromises the immune response to influenza A
infection in vivo.
https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/19750111

9. Arsenic is decreased in target organs during viral infection in mice
https://www.sciencedirect.com/science/article/abs/pii/S0946672X05001434

विस्तार में देखनॆ के लिये Researhgate की साइट पर जायें:
Read the paper no 4 at researchgate
OR
Download : Link 4

Manish Agarwala

डॉ. मनीष अग्रवाला कोलकाता सॆ  हैं। उन्होंने बर्दवान मेडिकल कॉलेज से अध्ययन किया   है और कोलकाता के प्रसिद्ध  होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. धनंजय रे के तहत अनुभव प्राप्त किया  है। वह हैनिमैन, हीरिंग, लिप्पे और एलन की परंपरा मॆं होम्योपैथी के अध्ययन और अभ्यास की वकालत करते हैं । आप बर्मा की परंपरा में विपश्यना ध्यान का अभ्यास करते हैं और साथ ही मॆ आपनॆ भगवान्‌ बुद्ध की शिक्षाओं और जे कृष्णमूर्ति की शिक्षाओं पर गहराई से शोध किया है।   आप तक पहुँचनॆ कॆ लियॆ  https://www.facebook.com/manish.agarwala.12 या dhammachakka@yahoo.com पर जा कर संपर्क कर सकतॆ हैं ।

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s