Category Archives: fun

मिर्च खाएं और मोटापा भूल जाएं …

 

आपको लगता होगा कि मिर्च खाकर सिर्फ मुंह में ही जलन होती है पर वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि इससे शरीर का फैट भी जलता है। यकीनन इससे अच्छी बात क्या हो सकती है क्योंकि मिर्च खाइए और मोटापे की चिंता भूल जाइए 🙂
टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक कैलिफॉर्निया यूनिवर्सिटी के रिसर्चरों ने रिसर्च में पाया कि मिर्च खाने से शरीर में जो हीट बनती है, वह हमारे कैलरी उपभोग को बढ़ाती है और फैट की परतों को पतला करती है। और हां, अगर आप ज्यादा तीखी मिर्च नहीं खा पाते तो भी गुड न्यूज है।
रिसर्चरों ने पाया कि कैपसेइसिन नाम का मेन तत्व कुछ कम तीखी मिर्चों में भी होता है। रिसर्चरों ने 34 पुरुषों और महिलाओं पर 28 दिन तक परीक्षण के बाद यह नतीजा निकाला।

साभार : इकोनोमिक टाइम्स

Advertisements

अजीबोगरीब समानतायें -क्या है इनमे सच ?

यह भी अजीब संयोग है कि प्रकृति द्वारा प्रद्दत नाना प्रकार के फ़ल और सब्जी की संरचानाये हमारे शरीर के कई अंगों और कोशिकाओं से मिलती जुलती प्रतीत होती हैं ।  चीनियों ने प्रकृति के इस निराले खेल को ५००० वर्ष पहले ही से जाना और समझा ।

कुछ अंदाज लगायें कि क्या समानता हो सकती है १. एक कटी हुई गाजर और आँख मे या २. कटॆ हुये टमाटर और ह्रदय मे  या ३. अखरोट और मस्तिषक के बीच या ४. शकरकन्दी और पैन्क्रियाज के मध्य । और भी है बहुत से ऐसे सम्बन्ध ; प्रकृति की इस निराले अंदाज को जानने के लिये नीचे इस वीडियो किल्प को देखें  ।

" Food Patterns of our Body Proof for Intelligent Design"

विज्ञापन कैसे-२

आज सुबह दैनिक जागरण के मुख्य पृष्ठ पर परिवार नियोजन से संबधित एक प्रायोजित विज्ञापन ने बरबस ध्यान खींच लिया । ऐसा नही कि इस विज्ञापन मे कोई अशशीलता थी लेकिन यह कुछ अलग तरह का था जिसको आप देखें तो मुस्कराये बगैर न रह सकेगें । आज से कई साल पहले जब दूरदर्शन ने अपनी दस्तक घर-२ दी थी तब ऐसे विज्ञापनों को घर के बडे-बुजर्गों के बीच मे बैठ कर देखना अजीब सा लगता था । लेकिन अब माहौल बदल गया है , बढते हुये चैनलों मे परोसी जाने वाली अशशीलता अब इन विज्ञापनों के आगे कोई मायने नही रखती ।
birth control pills

एक नटखट बच्चे पर बनाया गया यह वीडियो देखने योग्य है :

आप चिट्ठाकारी के कितने आदी है ? ( How Addicted to Blogging Are You? )

है तो यह प्रश्न अटपटा लेकिन प्रश्न तो प्रश्न ही है और जबाब भी खोजना है । मेरा जबाब तो नीचे रहा और आपका क्या है ? तो देर किस बात की, थोडा सा यहाँ घूम आयें और अपने मन मे उमडते हुये सवालों का जबाब देखें । ( वैसे जब मै अपने आप को 70% की श्रेणी मे देखता हूँ तो अन्य दिग्गज ब्लागरस पर सोचने पर मजबूर हो जाता हूँ कि उनका प्रतिशत कितना होगा ?  🙂 )