Tag Archives: चेरी प्ल्म

Mind Map of Cherry Plum

CHERRY PLUM [Cher-p]

  1. शारीरिक और भावात्मक आवेशों पर नियंत्रण का अभाव (Fear of losing one’s mind )
  2. क्रोध और आवेश की स्थिति में अशोभनीय हरकतें , स्वयं से भय ( Fear of loss of control , uncontrolled outbreaks of temper , feels he will become mad )
  3. मानसिक आवेग पागलपन तक

Desperation. Fear of losing his mind’s control over his actions. Can do anything, even kill somebody or kill himself at the spur of the moment, without thinking.

Unbearable condition of the mind. Apt to act on impulse than on reason.

BOTANICAL NAME: Prunus cerasifera

KEYNOTES
: -People losing their self-control on heading for a breakdown. Desperate, about to have a nervous breakdown.

-Fear of doing something terrible at any moment (something one would never normally do) and then having to regret for it for the rest of one’s life.

-Afraid one is going mad.

-Compulsive ideas, de
outbreaks of rage.

-Destructive impulses, danger of suicide.

-Useful in the treatment of bedwetting in children (self- control of daytime released during sleep, when there is no conscious body control).

-Useful for rehabilitation of drug addicts.

Advertisements

मॆरी डायरी– “ बैच फ़्लावर रेमेडी– रॆसक्यू रॆमॆडी ( Rescue Remedy ) ”

FiveFlowerRescue

अगर बैच फ़्लावर औषधियों मे से एक दवा को निर्विवाद   रुप से चयन करने को कहा जाये तो रेस्क्यू रेमेडी का आसानी से चुनाव किया जा सकता है । एक  ऐसी औषधि जिसे हर होम्योपैथिक चिकित्सक की शेल्फ़ मे होना चाहिये लेकिन अफ़सोस वह  अधिकाशं चिकित्सकॊं के पास नही पायी जाती ।   बैच फ़्लावर औषधियों को प्रयोग मे न लाने के लिये जिम्मेदार CCH यानी सेन्ट्र्ल काउनसिल आफ़ होम्योपैथी का ऊबाऊ पाठ्यक्रम है जिसे B.H.M.S. के छात्रों पर थोपा गया है । इस विषय  पर चर्चा अन्य किसी लेख मे करुगाँ लेकिन इसमे कोई अतिशयोक्ति नही है कि एक समृद्ध होम्योपैथिक मैटेरिया मेडिका और उसके साथ अन्य वैकलिप्क पद्दतियों  का होम्योपैथिक पाठयक्रम मे उचित समावेश नही किया गया है ।

रेसक्यू रेमेडी में  पाँच बैच फ़्लावर दवाओं  का कम्बीनेशन है । इनमें से प्रमुख हैं :

  • राक रोज (Rock Rose)
  • इम्पेशेंस (Impatiens)
  • क्लेमाटिस (Clematis):
  • चेरी प्लम (Cherry Plum)
  • स्टार आफ़ बेथलम ( star of Bethlem )

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि रेसक्य़ू रेमेडी क काम आपातकालीन परिस्थितियों और प्राथिमिक उपचारों ( First Aid ) मे किया जाता है । दवा को खाने के लिये  देते हैं और साथ ही मे चोट और जलने की परिस्थितियों  मे इसको पानी मे डालकर बाहर से लगाने के लिये भी दे सकते हैं ।

हाल ही में मियामी विश्वविद्यालय द्वारा एक नव प्रकाशित अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया है कि बैच फ़्लावर औषधी रेसक्य़ू अवसाद और चिंता ग्रस्त रोगियों के लिये वरदान साबित हो सकती है । यह शोध कार्य मियामी राज्य के विशविधायलय के डॉ. रॉबर्ट हलबरस्टीन ने सर्कीन क्रियेटेव केन्द्र( SCLC )  के साथ संयोजित रुप से किया था ।

रेसक्य़ू रेमेडी के  पाँच घटकं दवाओं का कार्य क्षेत्र निम्म है :

राक रोज (Rock Rose) : आतंक, चरम सीमा का भय। राक रोज का सेवन तब करना चाहिए जब कोई एक दम आतंकित हो जाए, भले ही उसका स्वास्थ्य अच्छा हो या जब किसी दुर्घटनाग्रस्त होने से आतंक हो तो यह दवा प्रयोग की जाती है। दुर्घटना में बाल-बाल बचने के बाद भी उसका आतंक व्यक्ति पर छाया हो। रोगी के साथ दुर्घटना के कारण यदि आस-पास के लोगों में भी आतंक या भय छाया हो तो उन्हें भी यह दवा देनी चाहिए।

इम्पेशेंस (Impatience) : अधीरता,चिड़चिड़ापन, चरम मानसिक तनाव। किसी दुर्घटना के बाद की उत्तेजित अवस्था म चिडचिडापन और मानसिक तनाव से बचाती है ।

क्लेमाटिस (Clematis): उदासीनता, दिवास्वप्न देखना, असावधान। किसी दुर्घटना के फ़लस्वरुप हुई बेहोशी , खुमारी या स्वभाविक नींद से दूर करती है ।

चेरी प्ल्म (Cherry Plum): असहनीय पीडा , मानसिक नियंत्रण खोने का भय। घोर निराशा। स्नाययिक विकार के कारण घोर निराशा और उससे बचने के लिए आत्महत्या करने की चाह/प्रवृत्ति रखने वाले व्यक्तियों के लिए यह काफी उपयोगी औषधि है।

स्टार आफ़ बेथलम ( star of Bethlem ) : मानसिक या शारीरिक झटके के बाद के असर । मन पर लगने वाली चोटॊं का असर जिससे मानसिक और शारीरिक सन्तुलन का बिगड जाना ।

RESCUE REMEDY

A combination of five flower remedies useful as a First Aid in case of emergency or accident.
The components of Rescue Remedy are:
1) Star of Bethlehem – for trauma and numbness.
2) Rock Rose – for terror and panic.
3) Impatiens – for irritability and tension.
4) Cherry Plum – for fear of losing control.
5) Clematis – for the tendency to ‘pass out’, the sensation of being ‘far away’ that often precedes unconscious.

KEYNOTES

1-useful in emergency situations to prevent or quickly overcome the (mental) trauma.
2-useful in states of mental turmoil (after quarrels or disputes, after sudden bad news, after fright).
3-useful for impending events which may be causing anxiety or apprehension (visit to the dentist, attending divorce proceedings, a job interview, before a driving test or a surgery).
4-useful if one has to work in an atmosphere of permanent stress (stressful job, displeasure at work, in a courtroom, a hospital casualty department).
5-useful in burns, sprains, stings, bumps or blows, it can be used as a local application.
6-useful & ointment can be used as a precautionary to prevent soreness or blistering following friction by running or playing tennis etc.

यह भी देखें :

१- चेस्टनट–होम्योपैथिक और बैचफ़्लावर पद्दतियों मे उपयोग ( Chestnut–Homeopathic & Bach flower uses )
२-  मेरी डायरी से -“बैच फ़्लावर औषधि–पाइन”
३- मेरी डायरी से -बैच फ़्लावर औषधि -‘Vine’ – ‘वाइन’ और ‘वरवैन’ ( Vervain )