सात प्रकार की भावात्मक अवस्थायें और बैच फ़्लावर औषधियाँ

 

विभिन्न प्रकार के मनुष्यों का व्यक्तित्व  और  बैच फ़्लावर औषधियाँ

डा. बैच द्वारा अविष्कृत ३८ औषधियां  इन्सान के अन्दर पाये जाने वाले ३८ प्रकार की नकरात्मक सोचों को दर्शाती हैं । डां बैच ने पाया कि मनुष्य के अन्दर पाये जाने वाले ३८ प्रकार के नकरात्मक सोचों को ७ प्रकार की भावात्मक अवस्थाओं से ग्रसित व्यक्तियों के लिये विभाजित किया जा सकता है । विभिन्न मनुष्यों के व्यक्तित्व के आधार पर बैच फ़्लावर रेमिडीज का वर्गीकरण चिकित्सक की सहूलियत के लिये है जो इस प्रकार से है :

१. डर/भय

२. अनिशिचतता

३. वर्तमान मे रुचि का अभाव

४. अकेलापन

५. दूसरों के व्यक्तित्व से अत्याधिक प्र्भावित

६. निराशा , हताशा एवं उदासीनता से पीडित

७. अपने प्रियजनों और मित्रॊ के कल्याण के लिये अत्याधिक चिन्तित

 

क्रमश:

( अगले भाग मे हम चर्चा करेगें मनुष्य के अन्दर पाये जानी वाली पहली नकरात्मक भावात्मक अवस्था यानि भय की , विभिन्न प्रकार के भय  और साथ ही मे उनसे संबधित बैच फ़्लावर दवाओं के रोल की जो नकरात्मक सोच को सकराय्मक सोच मे बदलने मे सक्षम होती है . )

14114844_536172749917188_7688984501110365655_o (1)

BLOG AUTHOR ( ब्लाग रचयिता ) : डा. प्रभात टन्डन
जन्म भूंमि और कर्म भूमि लखनऊ !! वर्ष १९८६ में नेशनल होम्योपैथिक कालेज , लखनऊ से G.H.M.S. किया , और सन १९८६ से ही  प्रैक्टिस मे संलग्न ..

Clinic :

1. Meo Lodge , Ramadhin Singh Road , Daligunj , Lucknow
2. Shop No 6 ,Ghazi Complex , Ghaila ,  Fazulagunj , Lucknow
E mail : drprabhatlkw@gmail.com
Mobile no : 9899150456 ( Dr Ayush Tandon )

Online Consultation : http://homeoadvisor.com/

Advertisements

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

w

Connecting to %s