मॆरी डायरी– “ बैच फ़्लावर रेमेडी– रॆसक्यू रॆमॆडी ( Rescue Remedy ) ”

FiveFlowerRescue

अगर बैच फ़्लावर औषधियों मे से एक दवा को निर्विवाद   रुप से चयन करने को कहा जाये तो रेस्क्यू रेमेडी का आसानी से चुनाव किया जा सकता है । एक  ऐसी औषधि जिसे हर होम्योपैथिक चिकित्सक की शेल्फ़ मे होना चाहिये लेकिन अफ़सोस वह  अधिकाशं चिकित्सकॊं के पास नही पायी जाती ।   बैच फ़्लावर औषधियों को प्रयोग मे न लाने के लिये जिम्मेदार CCH यानी सेन्ट्र्ल काउनसिल आफ़ होम्योपैथी का ऊबाऊ पाठ्यक्रम है जिसे B.H.M.S. के छात्रों पर थोपा गया है । इस विषय  पर चर्चा अन्य किसी लेख मे करुगाँ लेकिन इसमे कोई अतिशयोक्ति नही है कि एक समृद्ध होम्योपैथिक मैटेरिया मेडिका और उसके साथ अन्य वैकलिप्क पद्दतियों  का होम्योपैथिक पाठयक्रम मे उचित समावेश नही किया गया है ।

रेसक्यू रेमेडी में  पाँच बैच फ़्लावर दवाओं  का कम्बीनेशन है । इनमें से प्रमुख हैं :

  • राक रोज (Rock Rose)
  • इम्पेशेंस (Impatiens)
  • क्लेमाटिस (Clematis):
  • चेरी प्लम (Cherry Plum)
  • स्टार आफ़ बेथलम ( star of Bethlem )

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि रेसक्य़ू रेमेडी क काम आपातकालीन परिस्थितियों और प्राथिमिक उपचारों ( First Aid ) मे किया जाता है । दवा को खाने के लिये  देते हैं और साथ ही मे चोट और जलने की परिस्थितियों  मे इसको पानी मे डालकर बाहर से लगाने के लिये भी दे सकते हैं ।

हाल ही में मियामी विश्वविद्यालय द्वारा एक नव प्रकाशित अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया है कि बैच फ़्लावर औषधी रेसक्य़ू अवसाद और चिंता ग्रस्त रोगियों के लिये वरदान साबित हो सकती है । यह शोध कार्य मियामी राज्य के विशविधायलय के डॉ. रॉबर्ट हलबरस्टीन ने सर्कीन क्रियेटेव केन्द्र( SCLC )  के साथ संयोजित रुप से किया था ।

रेसक्य़ू रेमेडी के  पाँच घटकं दवाओं का कार्य क्षेत्र निम्म है :

राक रोज (Rock Rose) : आतंक, चरम सीमा का भय। राक रोज का सेवन तब करना चाहिए जब कोई एक दम आतंकित हो जाए, भले ही उसका स्वास्थ्य अच्छा हो या जब किसी दुर्घटनाग्रस्त होने से आतंक हो तो यह दवा प्रयोग की जाती है। दुर्घटना में बाल-बाल बचने के बाद भी उसका आतंक व्यक्ति पर छाया हो। रोगी के साथ दुर्घटना के कारण यदि आस-पास के लोगों में भी आतंक या भय छाया हो तो उन्हें भी यह दवा देनी चाहिए।

इम्पेशेंस (Impatience) : अधीरता,चिड़चिड़ापन, चरम मानसिक तनाव। किसी दुर्घटना के बाद की उत्तेजित अवस्था म चिडचिडापन और मानसिक तनाव से बचाती है ।

क्लेमाटिस (Clematis): उदासीनता, दिवास्वप्न देखना, असावधान। किसी दुर्घटना के फ़लस्वरुप हुई बेहोशी , खुमारी या स्वभाविक नींद से दूर करती है ।

चेरी प्ल्म (Cherry Plum): असहनीय पीडा , मानसिक नियंत्रण खोने का भय। घोर निराशा। स्नाययिक विकार के कारण घोर निराशा और उससे बचने के लिए आत्महत्या करने की चाह/प्रवृत्ति रखने वाले व्यक्तियों के लिए यह काफी उपयोगी औषधि है।

स्टार आफ़ बेथलम ( star of Bethlem ) : मानसिक या शारीरिक झटके के बाद के असर । मन पर लगने वाली चोटॊं का असर जिससे मानसिक और शारीरिक सन्तुलन का बिगड जाना ।

RESCUE REMEDY

A combination of five flower remedies useful as a First Aid in case of emergency or accident.
The components of Rescue Remedy are:
1) Star of Bethlehem – for trauma and numbness.
2) Rock Rose – for terror and panic.
3) Impatiens – for irritability and tension.
4) Cherry Plum – for fear of losing control.
5) Clematis – for the tendency to ‘pass out’, the sensation of being ‘far away’ that often precedes unconscious.

KEYNOTES

1-useful in emergency situations to prevent or quickly overcome the (mental) trauma.
2-useful in states of mental turmoil (after quarrels or disputes, after sudden bad news, after fright).
3-useful for impending events which may be causing anxiety or apprehension (visit to the dentist, attending divorce proceedings, a job interview, before a driving test or a surgery).
4-useful if one has to work in an atmosphere of permanent stress (stressful job, displeasure at work, in a courtroom, a hospital casualty department).
5-useful in burns, sprains, stings, bumps or blows, it can be used as a local application.
6-useful & ointment can be used as a precautionary to prevent soreness or blistering following friction by running or playing tennis etc.

यह भी देखें :

१- चेस्टनट–होम्योपैथिक और बैचफ़्लावर पद्दतियों मे उपयोग ( Chestnut–Homeopathic & Bach flower uses )
२-  मेरी डायरी से -“बैच फ़्लावर औषधि–पाइन”
३- मेरी डायरी से -बैच फ़्लावर औषधि -‘Vine’ – ‘वाइन’ और ‘वरवैन’ ( Vervain )

8 responses to “मॆरी डायरी– “ बैच फ़्लावर रेमेडी– रॆसक्यू रॆमॆडी ( Rescue Remedy ) ”

  1. काम की जानकारी, अब यह भी बताएं कि मैं बीकानेर में रहता हूं तो इस रेस्‍क्‍यू रेमेडी तक कैसे पहुंच सकता हूं। यहां कई बार पता किया, कोई रखता ही नहीं है। होम्‍योपैथी की महज दो दुकानें हैं, दोनों ही नहीं रखते। या थोड़ी सी मंगवाते हैं, आते ही खत्‍म। कोई वैकल्पिक व्‍यवस्‍था।

  2. बहुत उपयोगी जानकारी….

  3. रेस्क्यू रेमेडी के प्रयोग का तरीका भी विस्तार से बताने का कष्ट करें। क्या पांचों दवायें एक साथ मिलायी जाती हैं या फ़िर अलग अलग उपयोग की जाती हैं? इन दवाओं को ग्लोब्यूल में डाल कर दिया जाता है अथवा पानी में मिला कर उपयोग करना उचित होगा? क्या सीधे जीभ पर भी इसे लिया जा सकता है? इन दवाओं की पोटेन्सी क्या होती है और इनका रिपिटीसन करने के क्या नियम हैं?

  4. @ प्रमोद जी ,
    रेस्क्यू रेमेडी स्वंय में पाँच दवाओं का काम्बीनेशन है । इसलिये अलग-२ मिलाने का सवाल ही नही होता ।
    बैच फ़्लावर दवाओं को ग्लोब्यूल में भी डाल कर ले सकते हैं और पानी मे भी । दवा का कार्य दोनों ही हालात मे एक सा रहता है ।
    पोटेन्सी बैच फ़्लावर मे नही होती , अलबत्ता मैनेयूफ़ैक्चरिगं पौलिसी के अनुसार होम्योपैथिक दवा निर्माता बैच फ़्लावर दवाओं के आगे ३० पोटेन्सी का टैग लगा देते हैं ।
    रिपीटीशीन करने के लिये acute रोगों मे १५ मिनट से लेकर १-१ घंटॆ पर और पुराने रोगों मे दिन मे तीन बार ।

  5. @ सिद्धार्थ जोशी जी ,
    भोपाल की डां जकरिया की न्यू लाइफ़ होम्योपैथी बैच फ़्लावर औषधियों का निर्माण और वितरण करती है , इसके अलावा और भी निर्माता होगें लेकिन मै तो फ़िलहाल कई वर्षॊ से न्यू लाइफ़ होम्योपैथी , भोपाल की ही बैच फ़्लावर प्रयोग कर रहा हूँ ।

  6. Dear Dr.,
    Very good on Bach remedies.I am using these remedies and have found very good results.Every body shall use these remedies.
    Dr.Raj Kumar,
    Senior Citizen.

  7. पिंगबैक: बैच फ़्लावर रेमेडी – एक संक्षिप्त परिचय | होम्योपैथी-नई सोच/नई दिशायें

  8. पिंगबैक: मेरी डायरी–बैच फ़्लावर रेमेडी–“ गौर्स–Gorse ” | होम्योपैथी-नई सोच/नई दिशायें

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s