Monthly Archives: अप्रैल 2012

The John Benneth Journal

Homeopathy, the legal view.

The case against it picks up steam

Here we go again . .

After 200 years of phenomenal growth, clinical use for over 70,000 symptoms and superior results in epidemics and popularity among loyal users, there is still great opposition, it would seem, to homeopathy.

Here’s the latest. Apparently some jurist pedant in Australia has just discovered homeopathy, and a well known critic of homeopathy is trying to take it to the bank . . again.

http://www.pulsetoday.co.uk/comment-blogs/-/blogs/13779346/homeopathy-the-legal-view

They just don’t get it . . it would seem.

There’s obviously some money in naysaying and pretending to be stupid. The fact of the matter is homeopathy is an obvious threat to the pharmaceutical industry. Not as a competitor . . as a destroyer. The homeopathic pharmacopoeia, which now includes over 3,000 remedies, can’t be patented, is easily manufactured, sold and used for an Avogadran fraction of what patent medicine can get…

View original post 573 और  शब्द

Advertisements

होम्योपैथी दवाओं के लिए नोएडा में पौधों का संरक्षण

Homeopathic medication

होम्योपैथी पद्दति में  करीब 1400 प्रकार की दवाएं पौधों से बनती हैं। इनमें 50 से ज्यादा पौधे ऐसे हैं, जिनका इस्तेमाल सिर से लेकर पैर तक के रोगों की कारगर दवा बनाने के लिए किया जाता है। ऐसे ही चार दर्जन से अधिक पौधों का सेक्टर-24 स्थित केंद्रीय होम्योपैथी अनुसंधान केंद्र संरक्षण कर रहा है। इसके लिए अनुसंधान केंद्र में ग्रीन हाउस बनाने की भी तैयारी है। इस केंद्र में नई दवाओं को इजाद करने के लिए कई शोध भी किए जा रहे हैं।
अनुसंधान केंद्र के वनस्पति वैज्ञानिक अरुण कुमार तिवारी ने बताया कि हर छोटे और बड़े औषधीय पौधे की अपनी खासियत होती है। यह पौधे गंभीर बीमारियों के इलाज की क्षमता रखते हैं। यही वजह है कि यहां पौधों से दवाएं बनाने के अलावा उनकी अन्य गुणवत्ताओं की खोजों पर भी काम किया जाता है। समय-समय पर किए जाने वाले शोधों से बेहतरीन दवा इजाद की जाती है। एक दवा को बनाने के लिए एक ही प्रजाति के तीन से चार पौधों का रस निकाला जाता है। जिस पौधे से ज्यादा रस निकालता है, उसी से ज्यादा कारगर दवा बनती है। रस को सुखाया जाता है और एल्कोहल मिलाकर दवा बनाई जाती है। अरुण कुमार ने बताया कि अनुसंधान केंद्र की छत पर एक छोटा सा ग्रीन हाउस बनाया जाएगा, जिसमें पौधे और भी सुरक्षित रहेंगे।
कुछ प्रमुख पौधे
 वसाका
इस्तेमाल में आने वाला भाग- पत्तियां
उपयोग- सर्दी-जुकाम, खांसी
——
आंवला
इस्तेमाल में आने वाला भाग- फल
उपयोग- रक्त शोधक
——-
 इमली
इस्तेमाल में आने वाला भाग- फल
उपयोग- सर्दी-जुकाम, बदजहमी
——-
सलपर्णी
इस्तेमाल में आने वाला भाग- जड़
उपयोग- बुखार, सिरदर्द, मेनेनजाइटिस
—–
 लाेंग
इस्तेमाल में आने वाला भाग- फल
उपयोग- बुखार, कफ निस्सारक
——
अश्वगंधा
इस्तेमाल में आने वाला भाग- जड़ें
उपयोग- फेरेंजाइटिस, बवासीर और बुखार
——
सतावर
इस्तेमाल में आने वाला भाग- अंकुरित हिस्सा
उपयोग- मधुमेह
——
 जामुन
इस्तेमाल में आने वाला भाग- बीज
उपयोग- मधुमेह और मुहांसे
——
एलोवेरा
इस्तेमाल में आने वाला भाग- पत्तियां
उपयोग- बवासीर और डायरिया
——-
पौधा- गिलोय
इस्तेमाल में आने वाला भाग- तना और जड़
उपयोग- पीलिया और कमजोरी
——–
पौधा- पत्थर चूर
इस्तेमाल में आने वाला भाग- पत्तियां
उपयोग- पेशाब संबंधी दिक्कतों का इलाज
——-
पौधा- कालमेध
इस्तेमाल में आने वाला भाग- पूरा पौधा
उपयोग-सर्दी- जुकाम, खांसी और पीलिया
——
पौधा- जटरोफा
इस्तेमाल में आने वाला भाग- बीज
उपयोग- हैजा, डायरिया, बदहजमी
——-
पौधे- कुंदरू
इस्तेमाल में आने वाला भाग- पत्तियां
उपयोग- मधुमेह
——-
पौधे- सर्पगंधा
इस्तेमाल में आने वाला भाग- जड़े
उपयोग- हाइपरटेंशन
——-
पौधा- सतावर
इस्तेमाल में आने वाला भाग- जड़
उपयोग- महिलाओं के लिए शक्तिवर्धक
———-
(इनको मिलाकर करीब 50 किस्मों के पौधे अनुसंधान केंद्र में मौजूद हैं)

2013 के मध्य में शुरू होगा म्यूजियम
अनुसंधान केंद्र की सबसे ऊपरी मंजिल पर बन रहा म्यूजियम 2013 के मध्य में शुरू होगा। अनुसंधान केंद्र के उपनिदेशक डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि इस म्यूजियम में होम्योपैथी की शुरुआत, दवाओं और भविष्य में होने वाले शोध की जानकारी थ्री-डी और फोर-डी के जरिए दी जाएगी। म्यूजियम में 50 सीटों का एक छोटा सा हॉल भी होगा, जिसमें होम्योपैथी पर डॉक्यूमेंट्री मूवी दिखाई जाएगी।

साभार : अमर उजाला दिनांक १०-४-२०१२

E-HOMOEO

Repertory of "sensation as if"

The basis of the material was secured from three major works : Hering’s Guiding Symptoms, Clarke’s Dictionary and Allen’s Handbook. Frequent references have been made to Allen’s Encyclopædia. Other volumes less well known, and including Anshutz’s New, Old and Forgotten Remedies , have served in adding further symptoms.

View original post 158 और  शब्द

A bouquet of Homeopathic books in pdb format ( special 257th Hahnemann Birthday edition )

Image

This set contains 34 books & ISILO  software needed to open these books.

1. THE ENCYCLOPEDIA OF PURE MATERIA MEDICA By TIMOTHY F. ALLEN, A.M., M.D.

2. Keynotes And Characteristics With Comparisons of some of the Leading Remedies of the Materia Medica Henry C. Allen, M. D.

3.First Lessons in the Symptomatology of Leading Homœopathic Remedies by H. R. Arndt, M. D.

4.BONNINGHAUSEN’S CHARACTERISTICS MATERIA MEDICA & REPERTORY. by C. M. BOGER, M.D.

5. How To Use The Repertory with A Practical Analysis of Forty Homeopathic Remedies by Glen Irving Bidwell, M.D.

6. BŒNNINGHAUSEN’S CHARACTERISTICS MATERIA MEDICA by C. M. BOGER, M.D.

7. HOMŒOPATHIC MATERIA MEDICA by William BOERICKE, M.D

8. REPERTORY by Oscar E. BOERICKE, M.D

9. Studies in the Philosophy of Healing and others writing including The study of materia medica and taking the case 
C. M. BOGER

10. A SYNOPTIC KEY OF THE MATERIA MEDICA By Cyrus Maxwell BOGER

11. A DICTIONARY OF PRACTICAL MATERIA MEDICA By John Henry CLARKE, M.D.

12. The Genius of Homeopathy Lectures and Essays on Homeopathic Philosophy By Dr Stuart M. CLOSE

13. Practice of Homoeopathy By Paul F. Curie, M. D.

14. DECACHORDS  by A. Gladstone Clarke.

15. A DICTIONARY OF PRACTICAL MATERIA MEDICA By John Henry CLARKE, M.D.

16. KEY-NOTES TO THE MATERIA MEDICA by HENRY N. GUERNSEY, M.D

17. Chronic Diseases – Samuel Hahnemann

18. ORGANON OF MEDICINE by Hahnemann Samuel

19. SEVEN-HUNDRED RED LINE SYMPTOMS from COWPERTHWAITE’S MATERIA MEDICA Rewritten by J. W. Hutchison, M. D.

20. The Mnemonic Similiad by Stacy Jones

21. Kent’s Aphorisms and Precepts from extemporaneous lectures

22. CLINICAL CASES By Pr James Tyler Kent

23. LECTURES ON HOMOEOPATHIC PHILOSOPHY BY James Tyler KENT, A.M., M.D.

24. LECTURES ON HOMŒOPATHIC MATERIA MEDICA by JAMES TYLER KENT, A.M., M.D.

25. What the doctor needs to know in order to make a successful prescription By Dr James Tyler Kent

26. KENT’S NEW REMEDIES

27. KENT’S REPERTORY

28. LESSER WRITINGS by Dr J. T. KENT

29. Keynotes Of The Homoeopathic Materia Medica by Dr. Adolph VON LIPPE

30. Regional Leaders by E. B. Nash, M. D.

31. Leaders In Homoeopathic Therapeutics by E. B. NASH

32. The principles and Art of Cure by Homœopathy by HERBERT A. ROBERTS, M.D.

33. Compendium Mental diseases and their modern treatment By Professor Selden Haines Talcott (A.M., M.D., Ph.D)

34. THE PRESCRIBER  by John Henry Clarke

35. ISILO : software needed to open the pdb books

Download Linkhttp://www.mediafire.com/?yeqtugajq1w

 

E-HOMOEO

Rediscovery of Homoeopathy

Mandanlal L. Sehgal

ROH Book Series(I-X).
I-VIII, Written by Dr. M. L. Sehgal.
IX- X, Co-authoured by Dr. Sanjay Sehgal and Dr. Yogesh Sehgal.
R.H.O Sehgal, photograph by Drofart
Forword:

Anything new at first appears strange, also it invites two types of reactions. One is acceptance and the other is rejection.

View original post 399 और  शब्द

होम्योपैथी-नई सोच/नई दिशायें

more about "A Tribute to Dr Samuel Hahnemann", posted with vodpod

इतिहास के चन्द पन्नों को समटेने की कोशिश करते हुये आँखे नम सी हो जाती हैं । मेरे सामने ब्रैडफ़ोर्ड की " लाइफ़ एन्ड लेटर आफ़ हैनिमैन " और हैल की " लाइफ़ एन्ड वर्कस आफ़ हैनिमैन " के उडते हुये पन्ने मानों वक्त को एक बार फ़िर समेट सा  रहे हैं । यह पुस्तकें मैने शौकिया अपने कालेज के दिनों मे ली थी लेकिन कभी भी पढने की फ़ुर्सत न मिली  । पिछ्ले साल जब hpathy.com के डा. मनीष भाटिया की भावपूर्ण जर्मनी  यात्रा को पढने का अवसर मिला तब इस लेख को लिखने की सोची थी लेकिन फ़िर आलसवश टल गया । १० अप्रेल हैनिमैन की जन्म तिथि के रुप मे जाना जाता है । मुझे नही लगता कि किसी भी अन्य पद्दति मे चिकित्सक अपने सिस्टम के संस्थापकों से इतना नही जुडॆ  हैं जितना…

View original post 2,162 और  शब्द