हिन्दी ब्लागर्स

हिन्दी लिखने के लिये मुझे कितनी माथा पच्ची करनी पडी यह तो मेरा दिल ही जानता हैइन्टर्नेट पर साफ़्टवेअर की खोज करनी शुरू की तो जा पहुँचे जीतू भाई के ब्लाग पर्। उनका मेल ढूँढा और तड से लगा दी मदद के लिये एक गुहार ,हाँ उसके पहले शुएब को भी पकडा। लेकिन सही माने मे मदद मिली जीतू जी से। वैसे आगे भी उनकी मगज मै खाता ही रहूगा।

 शुरू मे  माधयम का साफ़टवेएर भी लोड किया था लेकिन उससे बात बनी नही, रमन कौल की हिन्दी पटटी मुझे रास न आयी, बात आकर हिन्दी राइटर पर रूकी ,यह साफ़्टवेएर अब मेरे हाथो मे पूरी तरह से सेट है। कभी कभी कई शब्दों को लिखने मे दिक्कत आती है लेकिन फ़िर देवन्द्र पारख  जी ने मुझे हमेशा की तरह संकटमोचन की तरह दिखे।

  वैसे जब मै हिन्दी चिटठाकारों के बढते हुये समूह को देखता हूं तो एक अजीब सी खुशी का एहसास होता है। अभी कुछ दिन पहले तक शुएब और जीतू ही मेरे पसदीदा  ब्लागर्स मे थे। अक्षरग्राम मे आने के बाद  कई हिन्दी ब्लागरस के लिन्कस मुझे मिलने लगे। पकज बेगानी/सजय बेगानी के ब्लागस पढ कर तो वाकई मे मजा आ गया। रवि कामदार की ‘ टेक्नोलोजी का तत्वाधान ‘  और पंकज की पाठशाला एक नये तरीके का ब्लाग दिखा। शुएब के कई महत्वपूर्ण लिन्कस जो ग्राफ़िक्स और एनीमेशन से  थे ,मेरे बहुत काम आये। वैसे मै भी निधि की तरह कई दिनो तक पकज बेगानी/सजय बेगानी वाले मामले को समझ नही पा रहा था। वह एक है या दो ,बाद मे अक्षरग्राम मे एक परिचर्चा के दौरान यह बात खुली। चाहे वह प्रतीक का ब्लाग हो या रवि रतलामी का ,समाज मे हो रहे समस्यो को उन्होने बखूबी उठाया है। ब्लागर्स की कडी मे जगदीश भाटिया,अनुनाद,खालीपीली, नीरज दीवान ,शेखचिल्ली का ब्लाग भी अपनी एक अनूठी छाप छोडता दिखा।

अमित जी का ”धर्म या ढ़ोंग?  पढते समय मुझे सरिता के रिप्रिटं सेटो की याद आ गयी । धर्म और अंधविशवास पर सरिता का रूख बिल्कुल स्पष्ट है।

                                 edited 0n 12/8/06

 

6 responses to “हिन्दी ब्लागर्स

  1. टंडन जी, हिन्दी ब्लॉग जगत् में आपकी रुचि को देख कर अच्छा लगा। आशा है कि आप भी हिन्दी में होम्योपैथी से सम्बन्धित जानकारी मुहैया कराएंगे।

  2. होम्योपैथी विषयक जानकारी हिन्दी पाठक जगत तक पहुँचाने के लिए आपको अग्रिम बधाइयाँ व शुभकामनाएँ.

    क्या आप बता सकते हैं कि डॉ. बतरा द्वारा भारत के बड़े बड़े अखबारों में मेरे जैसे गंजे होते जा रहे लोगों के सिर में बाल उगाने के दावे होम्योपैथी के जरिए किए जाते हैं वे कितने सही हैं?

    क्या कोई आंकड़ा – सर्वेक्षण और क्लीनिकल रेकॉर्ड कहीं उपलब्ध है?

  3. रवि भाई, डा बतरा professional हैं, और उनको अपना सामान बेचने की कला अच्छी तरह मालूम है।
    ऐसा नहीं है कि होम्योपैथी alopecia में कारगर नहीं है,लेकिन acquired और वशांगत (congenital) दो अलग -2 आईना के दर्पण हैं, वशांगत मे तो कोई भी पैथी कुछ नहीं कर सकती,हां acquired की बात अलग है।

  4. डा.साहब ,आपका स्वागत है। आपसे अनुरोध है कि हमारी पत्रिका निरंतर भी पढ़ें। इसमें इस अंक में एड्‌स के बारे में कुछ लेख हैं। क्या होम्योपैथी में कुछ काम हुआ है एड्‌स पर? अपनी राय से हमें अवगत कराते रहें।

  5. dr.sahab kya hirsutism par homeopathic treatment ho sakta hai

  6. Sir please try to information about all homeopathy
    medicines in hindi language………
    For this help I will highly obliged to you…….
    yours-Saket

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s